जल जीवन हरियाली योजना 2023 – Jal Jeevan Hariyali Yojana ऑनलाइन आवेदन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के द्वारा जल जीवन हरियाली योजना (Jal Jeevan Hariyali Yojana) की शुरुआत की गई है। इस योजना को राज्य के पेड़ों का रोपण, पोखरों और कुओं का निर्माण करने के लिए शुरु किया गया है। और इस योजना माध्यम से राज्य के पुराने तालाबों, कुओ आदि की मरम्मत राज्य सरकार द्वारा कराई जाएगी। बिहार सरकार ने इस योजना के तहत किसानों को तालाब पोखरों बनाने और खेती की सिंचाई के लिए सरकार द्वारा 75500 रुपए की सब्सिडी आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जल जीवन हरियाली योजना 2022 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसके लिए आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंतक पढ़ना होगा।

Jal Jeevan Hariyali Yojana

जल जीवन हरियाली योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के सभी किसानों को लाभान्वित किया जाएगा। Jal Jeevan Hariyali Yojana के तहत तालाबों, कुओं, सरकारी भवनों में वर्षा के पानी को स्टोर करने के लिए वाटर हार्वेस्टिंग की जाएगी। और राज्य के किसानों को तालाब बनाने के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाएगी। राज्य में तालाब के बनने से किसानों को सिंचाई करने में किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। और किसान अपने खेतो में अच्छे से सिचाई कर सकेगे जिससे उनकी फसल की मात्रा में भी वृद्धि होगी। पिछले 2 वर्षों से इस योजना के तहत अब तक एक करोड़ पौधे लगाए जा चुके हैं। इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2022 तक 24 हज़ार 524 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे। यदि आप भी बिहार के नागरिक है।

और इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं। तो आपको जल जीवन हरियाली योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Jal Jeevan Hariyali Yojana Key Highlights  

योजना का नामजल जीवन हरियाली योजना
आरंभ की गईमुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी द्वारा
योजना की शुरुआत26 अक्टूबर 2019
लाभार्थीराज्य के किसान
उद्देश्यकिसानों को सब्सिडी प्रदान करना व तालाब, कुआं आदि का निर्माण करके साफ पर्यावरण बनाना
सहायक राशि75500 रुपए
कुल खर्च24524 करोड़ रुपए
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइटhttps://dbtagriculture.bihar.gov.in/  

जल जीवन हरियाली योजना का उद्देश्य

जल जीवन हरियाली योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य पर्यावरण को संतुलित रखना व राज्य में हर तरफ हरियाली करना है। जिससे देश में कृषि उत्पादन बढ़ेगा और पर्यावरण भी संतुलित रहेगा। इस योजना के माध्यम से अधिक से अधिक हरियाली उपजाऊ करना है। और साथ ही साथ अधिक से अधिक पेड़ों को लगाना है। बिहार राज्य में कुआं, पोखरों, तालाबों की मरम्मत करने के लिए राज्य सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी। और राज्य में पानी के स्रोत उपलब्ध होने से किसानों को सिंचाई करने में किन्ही दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Jal Jeevan Hariyali Yojana के तहत 2024-25 तक 12568.97 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे

आप सभी जानते ही होंगे कि जल जीवन हरियाली योजना को सन 2019-20 में 3 वर्षों के लिए शुरू किया गया था लेकिन बिहार की नई सरकार ने इस योजना को मंत्रिमंडल की दूसरी बैठक में 3 वर्ष और बड़ाने का प्रस्ताव स्वीकृत किया कर लिया है। यानी कि जल जीवन हरियाली योजना अब 2024-25 तक संचालित की जाएगी और इसके माध्यम से वह कार्य पूर्ण किए जाएंगे जो पहले रह गए थे। जिसके लिए मंत्रिमंडल की बैठक में अनुमति अनुमानित खर्च के लिए एक 12568 97 बजट स्वीकृत किया गया है। और 37.38 करोड़ रुपए प्रशासनिक मदद पर होने वाले खर्च के लिए स्वीकृत किए गए हैं। इस योजना के लिए सन 2022-23 में इसमें 5222 करोड़ रुपए और सन 2023-24 में 3668 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। और सन 2024-25 में इस योजना पर 3677 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

जल जीवन हरियाली योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के किसानों को लाभान्वित किया जाएगा।
  • जल जीवन हरियाली योजना के तहत पहाड़ी क्षेत्रों में डैम व छोटी नदियों का निर्माण किया जाएगा।
  • सरकार किसानों को तालाब का निर्माण कार्य करने के लिए 90 प्रतिशत का अनुदान देगी।
  • जल जीवन हरियाली योजना के तहत 43.62 लाख पौधे लगाए जाएंगे।
  • बिहार राज्य में जल जीवन हरियाली योजना के अंतर्गत पेड़ लगाने के साथ ही सिंचाई के लिए बारिश का पानी भी स्टोर करके रखा जाएगा।
  • सरकार द्वारा इस योजना हेतु 2023-24 तक 24 हजार 524 करोड़ रुपए का खर्चा किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा किसानों को तालाब कुएं में सिंचाई के कार्य निर्माण हेतु 75 हज़ार रुपए की सब्सिडी की मदद प्रदान करेगी।
  • राज्य के किसानो की मदद से खेतो के लिए सिंचाई का प्रबंध किया जाएगा।
  • अधिक से अधिक पेड़ों का रोपण करने से राज्य में पर्यावरण प्रदूषित नहीं होगा।

Jal Jeevan Hariyali Yojana के तहत किए जाने वाले काम

  • तालाब छोटे गड्ढा आदि का पुन निर्माण का कार्य करवाना
  • राज्य के सभी सार्वजनिक कुओं की मरम्मत करवाना।
  • अधिक से अधिक पौधों को लगाने का कार्य किया जाएगा।
  • राज्य के लोगों को योजना के कार्य के बारे में अवगत कराया जाएगा।
  • जल जीवन हरियाली योजना के माध्यम से सौर ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा। जिससे राज्य के सभी भवनों पर सोलर पैनल लगाई जाएगी और राज्य के सभी लोग इसका लाभ ले सकेंगे।
  • सार्वजनिक वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट स्ट्रक्चर द्वारा अतिक्रमण से मुक्त करना।
  • भवनो में जल संचयन संरचना (water harvesting plant) बनवाना।
  • राज्य में नए जल स्रोतों का निर्माण कार्य करना और जिन नदियों में पानी अधिक है। वहां का पानी ऐसे क्षेत्र में पहुंचाना जहां पानी स्तर बहुत कम है।
  • पहाड़ी क्षेत्रों एवं छोटी-छोटी नदियों नालों एवं तालाबों में पानी को स्टोर करके रखना ताकि भविष्य में पानी काम आ सके।

जल जीवन हरियाली योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को बिहार का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल 1 एकड़ की भूमि की सिंचाई के लिए सब्सिडी दी जाएगी।
  • जल जीवन हरियाली योजना के अनुसार किसानों को दो श्रेणियों में बांटा गया है। पहला व्यक्तिगत और दूसरा सामूहिक
  • व्यक्तिगत श्रेणी में वे लोग आते हैं जिनके पास एक एकड़ तक कृषि योग्य भूमि है और वह 1 एकड़ की भूमि में सिंचाई करना चाहते हैं।
  • और सामूहिक श्रेणी में वे लोग आते हैं जो 5 हेक्टेयर से अधिक रबड़े में एक साथ लेना चाहते हैं। उन्हें लागत की पूरी सब्सिडी दी जाएगी।
  • और इसके अलावा जीविका समूह और एसपीओ वाले भी आवेदन कर सकते हैं।

Jal Jeevan Hariyali Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पेन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • रजिस्टर मोबाइल नंबर
  • जमीन के कागजात
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो

जल जीवन हरियाली योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

  • सबसे पहले आपको बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको जल जीवन हरियाली हेतु आवेदन करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आपको किसान का समूह या स्वयं किसान में से किसी एक ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अगर आप किसान का समूह ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपको समूह द्वारा चयनित किसान समूह का रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करना होगा। जो कि 13 अंकों का होता है।
  • और यदि आप स्वयं किसान पर क्लिक करते हैं तो आपको किसान का 13 अंकों का पंजीकरण नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा। इस फॉर्म में आपको मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी जैसे किसान का नाम, पिता का नाम, पंचायत का नाम, आधार नंबर, इमेल एड्रेस, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको Get OTP के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर आपको ओटीपी प्राप्त होगा। जिसे आप को आवेदन फॉर्म में दर्ज करना होगा।
  • ओटीपी दर्ज करने के बाद आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

जल जीवन हरियाली मिशन 2022 में आवेदन की स्थिति कैसे देखें

  • सबसे पहले आपको बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदन की स्थिति प्रिंट करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको जल जीवन हरियाली आवेदन प्रिंट करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आपको पंजीकरण नंबर दर्ज करना होगा। और साथ ही आपको किसान का समूह या  स्वयं किसान में से किसी एक ऑप्शन का चुनाव करना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार संबंधित जानकारी आपकी स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगी और आप चाहते इसका प्रिंटआउट भी निकाल सकते है।

Leave a Comment