MP E Uparjan 2021 | इ-उपार्जन रबी खरीफ ऑनलाइन किसान पंजीकरण, Farmer Registration

MP E Uparjan  पोर्टल राज्य के किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू किया गया है। राज्य सरकार ने मध्य प्रदेश  के किसानों को रबी सीजन के  दौरान समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदने के लिए इस पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को 1 फरवरी 2020 को शुरू कर दिया गया था।

Read more: ग्रामीण कामगार सेतु पोर्टल

राज्य के जो  एक इच्छुक लाभार्थी सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर अपनी फसल बेचना चाहते हैं। उन्हें इस पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा। तो चलिए दोस्तों आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि  आप इस पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करवा सकते हैं  हमारा आर्टिकल विस्तारपूर्वक पढे।

एमपी उपार्जन पोर्टल 2020

दोस्तों जैसे कि आप सब जानते ही हैं कि पिछले वर्ष भी ऑनलाइन  पंजीकरण शुरू किया गया था लेकिन इस वर्ष ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया में कुछ बदलाव किए गए हैं। दोस्तों पिछली बार एमपी ई उपार्जन पर ऑनलाइन पंजीकरण केवल कृषि उपज मंडी के माध्यम से होता था, जिसकी वजह से काफी किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था, लेकिन अब मध्य प्रदेश के सभी किसान घर बैठे कर इंटरनेट के माध्यम से एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए उन्हें जल्द से जल्द ऑनलाइन पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

MP E Uparjan 2020 Highlights 

 योजना का नामMP E Uparjan 2020  
किसके द्वारा शुरू की गई? मध्य प्रदेश सरकार द्वारा
 लाभार्थी राज्य के किसान
 किस दिन लांच की गई?1  फरवरी, 2020
आधिकारिक वेबसाइटhttp://mpeuparjan.nic.in 

उद्देश्य क्या है?

  • एमपी ई उपार्जन का मुख्य उद्देश्य है कि पिछले साल जो कृषि मंडी के द्वारा ऑनलाइन प्रक्रिया में परेशानियां आई थी, उन परेशानियों का  इस साल सामना नहीं करना पड़े।
  • इस पोर्टल का उद्देश्य था कि पिछले साल जो किसान पंजीकरण नहीं करवा पाए थे। वह अब पंजीकरण आसानी से घर बैठे ही करवा सकें।
  • पोर्टल से उनका उद्देश्य था कि उन्हें समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर अपनी फसल बेचने पड़ी जिसकी वजह से किसानों को काफी नुकसान हुआ इस चीज को सुलझाने के लिए इस पोर्टल  को आरंभ किया गया।
  • इस पोर्टल के तहत पूरी पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। इस वर्ष राज्य के किसान पंजीयन  के लिए सार्वजनिक डोमेन में ई प्रोक्योरमेंट पोर्टल पंजीकरण केंद्रों में अपना पंजीकरण करवा पाएंगे।

Read more: MP Jeevan Shakti Yojana

  • और इसका उद्देश्य था कि किसान घर बैठे ही ई प्रोक्योरमेंट मोबाइल ऐप के माध्यम से पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी कर सकें।

MP E Uparjan 2020-21 के लाभ

  • एमपी ई उपार्जन का मुख्य लाभ है कि इस पोर्टल के माध्यम से किसानों को पंजीकरण कराने में कोई परेशानी नहीं होगी।
  • इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के लोग घर बैठे ही अपने कंप्यूटर या मोबाइल से आसानी से ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते हैं।
  • और इस पोर्टल का लाभ  राज्य के हर किसानों को मिलेगा।
  • ऑनलाइन पोर्टल के शुरू होने से लोगों के समय की भी बचत होगी।
  • न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए किसानों को इस बार 3 तारीख में दी जाएंगी जिसमें अनाज लेकर वह खरीद केंद्र पर आएगा।

दस्तावेज एवं पात्रता

  • आवेदन की समग्र आईडी
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • ऋणपुस्तिका
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

MP E Uparjan  पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करवाएं?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवाना चाहते हैं, उन्हें नीचे दिए गए पॉइंट्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है जो आपको ऊपर दी हुई है।
MP E Uparjan 2021 |  इ-उपार्जन रबी खरीफ ऑनलाइन किसान पंजीकरण, Farmer Registration
  • ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको रबी 2020-21  का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
MP E Uparjan 2021 |  इ-उपार्जन रबी खरीफ ऑनलाइन किसान पंजीकरण, Farmer Registration
  • पेज पर आपको रबी उपार्जन वर्ष 220-21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन   का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल कर आएगा। यहां कुछ आवश्यक दिशा निर्देश दिखाई देंगे।
MP E Uparjan 2021 |  इ-उपार्जन रबी खरीफ ऑनलाइन किसान पंजीकरण, Farmer Registration
  • आपको इन सभी दिशा निर्देश को ध्यान पूर्वक पढ़ना है और फिर अपना मोबाइल नंबर किसान कोड या समग्र आईडी डालनी होगी। डालकर सर्च के बटन पर क्लिक करें।
  • सर्च के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। आपको इस पंजीकरण फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे के अपना बैंक खाता, विवरण भूमि के स्वामित्व का विवरण और खरीद केंद्र का विवरण आदि दर्ज करना है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  • पंजीकरण होने के बाद आपको तुरंत आवेदन संख्या और पावती संख्या मिल जाएगी।

आपको इस पावती संख्या से ही अपना उत्पाद को खरीद केंद्र पर ले जा ना है। इसके माध्यम से आप एक बेंच प्राप्त कर सकेंगे और इस तरह आप का पंजीकरण पूरा हो जाएगा।

मध्य प्रदेश उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करवाने के लिए कुछ मुख्य  बातें।

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करवाना चाहते हैं, उन्हें कुछ बातों पर गौर फरमाना है और वह बातें हैं।

  • इस साल सभी किसान अपने आधार कार्ड नंबर और समग्र आईडी के माध्यम से पंजीकरण कर सकते हैं।
  • पंजीयन के लिए आधार अथवा समग्र आईडी ही अनिवार्य है।
  • अगर आपके पास समग्र आईडी नहीं है तो आप इस पोर्टल पर पंजीकरण नहीं करवा सकते।
  • इस पर पंजीकरण करवाने के लिए मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है और आपके मोबाइल नंबर को आधार से लिंक होना अनिवार्य है।
  • पंजीकरण के बाद आपको रसीद दी जाएगी। आपको इसे संभाल कर रखना है। पंजीयन के बाद पावती प्रिंट करें तथा खरीद के समय पावती ले जाना अनिवार्य है।

Conclusion 

 प्रिय दोस्तों उम्मीद करती हैं क्या आपको मेरे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि  एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करवा सकते हैं। अगर आपको कोई भी कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। आप का कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है। दोस्तो आगे भी इसी तरह आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करती रहूंगी।

Leave a Comment