छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2021: CG Godhan Nyay Yojana आवेदन फॉर्म व पात्रता

CG Godhan Nyay Yojana Online Registration | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना आवेदन | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना आवेदन फॉर्म | CG Godhan Nyay Yojana In Hindi

दोस्तों आज हमारा विषय है छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के बारे में। मैं आपको बता दूं कि इस योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ की सरकार द्वारा गायों के लिए की गई है। Godhan Nyay Yojana के तहत सरकार किसानों एवं पशुपालकों से गाय का गोबर खरीदेगी और इसका इस्तेमाल वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए किया जाएगा।तो दोस्तों क्या आप लोग इस योजना के बारे में जानते हैं? और इस छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2021 का लाभ उठाना चाहते हैं अगर हां तो दोस्तों आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से गोधन न्याय योजनाओं के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं आपको जानने के लिए और पंजीकरण करवाने के लिए हमारा आर्टिकल अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना 2021

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ के सरकार द्वारा की गई थी और इसकी घोषणा मुख्यमंत्री भूपेश भघेल ने की थी। इस योजना के तहत किसानों और पशु पालन करने वाले लोगों की आय में वृद्धि होगी और साथ ही गोबर का दाम मिलने की वजह से कोई भी गाय को खुले में नहीं छोड़ेगा।आप सभी ने देखा होगा कि कई राज्यों में लोग अक्सर पशुओं का दूध निकाल कर उन्हें खुला छोड़ देते हैं जिससे गांवों तथा शहरों में गोबर यूं ही पड़ा रहता है जिससे गंदगी भी बहुत होती है। इसी चीज को मध्य नजर रखते हुए छत्तीसगढ़ की सरकार ने CG Godhan Nyay Yojana को इस कठिनाई पर पूरी तरह रोक लगाने के लिए शुरू किया गया है साथ ही पशुपालकों को आय के रूप में भी फायदा दिलवाने के लिए शुरू किया गया है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

Rajiv Gandhi Kisan NYAY Yojana

CG Godhan Nyay Yojana 15वीं तथा 16वी किस्त आवंटन

CG Godhan Nyay Yojana के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों से गोबर खरीदा जाता है और फिर इस गोबर को खाद का रूप देकर सरकार द्वारा इसे मार्केट में बेचा जाता है। किसानों को सरकार द्वारा उनके गोबर का खरीद मूल्य उनके डायरेक्ट बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता है। यह योजना छत्तीसगढ़ सरकार की अभी तक की सबसे सफल योजनाओं में से एक है। इसी के चलते छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा 21 मार्च 2021 को इसकी 15वी एवं 16वी किस्त का भुगतान किया गया। 15वी एवं 16वी किस्त के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में कुल 7 करोड़ 75 लाख रुपए ट्रांसफर किए गए हैं। 3 करोड़ 75 लाख की रकम 15वी किस्त के अंदर किसानों के खातों में प्रदान की गई एवं 3 करोड़ 80 लाख रुपए की रकम 16वी किस्त के अंदर किसानों के खातों में प्रदान की गई। यह योजना प्रदेश भर के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने में एक अहम भूमिका निभा रही है

CG Godhan Nyay Yojana से कितने रुपए प्रति किलो गोबर कर दिया है?

दोस्तों मैं आपको बता दूं कि छत्तीसगढ़ गोबर्धन न्याय योजना में गोबर की खरीद की कीमत अब सरकार के द्वारा ₹2 प्रति किलो पर दी गई है इसके लिए सरकार योजना के लोगों के लिए एक कार्ड भी जारी कर रही है वहीं स्कीम के अंदर गौतम समिति या उसके द्वारा नामित समूह द्वारा घर-घर जाकर गोबर संग्रहण किया जाएगा। राज्य के निवासियों से खरीदे गए गोबर से जुड़ी सभी जानकारी इन कार्ड में रोजाना दर्ज की जाएगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का उद्देश्य क्या है?

  • छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना का उद्देश्य है कि जो पशुपालन का काम करते हैं उन्हें अधिक आय प्रदान करना।
  • इस योजना का उद्देश्य था कि जो पशुपालन गायों को यहां वहां चलने के लिए छोड़ देते हैं जिससे गोबर के कारण गंदगी फैलती है तो उन्हें पशुपालन के लिए आए उपलब्ध कराना
  • CG Godhan Nyay Yojana का उद्देश्य था कि सड़कों पर गायों के निकलने पर जो बड़े हादसे होते हैं उन्हें कम करवाना।
  • इस योजना का उद्देश्य था कि गायों को समय पर चारा देने की जिम्मेदारी पशुपालन व्यक्तियों के द्वारा निभाई जाना।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के मुख्य तथ्य

  • छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना का मुख्य तत्व यह है कि इस योजना को दो चरण में चलाया जाएगा जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 घटनाओं को जोड़ा जाएगा। और 2800 घटनाओं का निर्माण करने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
  • इस योजना की मुख्य बात यह है कि इस योजना को भविष्य में और कारगर बनाने के लिए राज्य के 20000 गांव और शहरों में भी इसे चलाया जाएगा।
  • CG Godhan Nyay Yojana के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत करेगी।
  • इस योजना के तहत सरकार किसानों एवं पशुपालकों से ₹2 प्रति किलो गोबर खरीदेगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना के लाभार्थियों को एक कार्ड जारी किया जाएगा जिसमें गोबर की कीमत और अन्य सभी जानकारी दी हुई होंगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के लाभ

  • योजना के माध्यम से पशु पालन को एक आए का रूप में लेगा।
  • गायों को सही तरह से चारा प्रदान किया जाएगा।
  • पशुओं के साथ होने वाले हादसों में कमी आएगी।
  • राज्य के किसानों और पशु पालन करने वालों के आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • राज्य से गंदगी दूर होगी।
  • खाद बनाने के लिए गोबर का इस्तेमाल किया जाएगा।
  • गांव में गोबर के उपले बनाकर उसे जलाने पर रोक लगेगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में आवेदन करने के लिए पात्रता?

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • राज्य के बड़े जमींदारों को इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा क्योंकि वह पहले से ही समृद्ध होंगे
  • इस योजना में आवेदन लेने के लिए आवेदक को छत्तीसगढ़ का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है
  • योजना में आवेदन लेने के लिए पशुओं की संख्या की जानकारी दर्ज करवानी अनिवार्य है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में आवेदन कैसे करवाएं?

दोस्तों आपको बता दूं कि अभी ऑनलाइन आवेदन के बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है छत्तीसगढ़ में अब तक 5300 गौठान स्वीकृत किए जा चुके हैं जिसमें से ग्रामीण क्षेत्रों में 2408 और शहरी क्षेत्रों में 377 गौठान बन चुके हैं। जबकि राज्य सरकार ने प्रदेश की सभी 11630 ग्राम पंचायतों को सभी 20 हजार गांव में गठान निर्माण का लक्ष्य रखा है ताकि सभी गांव से गोबर की खरीदारी हो सके।

Conclusion

प्रिय दोस्तों उम्मीद करती हूं कि आपको मेरा आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना क्या है अथवा इसका क्या लक्ष्य है। आगे भी इसी तरह आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से और स्कीम्स के बारे में जानकारी प्रदान करती रहूंगी।

Leave a Comment