प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY): ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आजकल पूरी दुनिया में कोरोना की दहशत फैली हुई है लॉक डाउन के चलते तीन-चार दिन में ही गरीब लोगों की हालत खराब हो गई है आजकल वह लोग जो बाहर के हैं और जैसे देहली में बाहर के काम करने वाले दिहाड़ी मजदूर जिन्हें दो वक्त का खाना भी नसीब नहीं हो रहा उनके लिए बड़ी चिंता की बात है हमारे भारत देश में करीब 80 परसेंट आबादी गरीबों की है इसी बीच सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा एक अच्छी खबर भी सुनने को मिली है वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश के गरीबों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को शुरू किया है

PMGKY 2020

इस योजना को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के नाम से जाना जा रहा है यह जो एक आफत आई है पूरी दुनिया पर और हमारे देश में कोरोनावायरस की इसी को मद्देनजर रखते हुए इस योजना को शुरू किया गया है ताकि गरीब लोगों तक अनाज की व्यवस्था की जा सके। आपको पता तो होगा ही 21 दिन के लॉक डाउन मैं गरीबों के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय है दो वक्त का खाना और यह चिंता उन लोगों के लिए और भी ज्यादा है जो कि दिहाड़ी मजदूर हैं रोज कमाना और वह खाना इनके पास इतना पैसा नहीं होता यह 4 दिन भी घर पर रहकर खाना खा सकें। इसीलिए वित्त मंत्री ने इस योजना की घोषणा की।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है ?

वित्त मंत्री श्री निर्मला सीतारमण ने 26 मार्च सन 2020 को इस योजना की शुरुआत की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत क्यों की गई यह सब आप अच्छी तरह जानते हैं क्योंकि पूरे विश्व में कोरोना वायरस की दहशत है और लोगों के सामने सबसे बड़ी समस्या यह है खासतौर पर भारत देश में गरीबी भी ज्यादा है यहां पर दो वक्त की रोटी के लिए गरीब लोगों को बड़ी मशक्कत करनी पड़ती है और अब जब वह 21 दिन तक अपने घरों में रहेंगे तो उन्हें दो वक्त की रोटी कहां से नसीब होगी इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का शुभारंभ किया। गरीबों के लिए सबसे बड़ी समस्या राशन की है और ऐसा नहीं है कि सरकार की इस पर नजर नहीं है और सरकार को पूरा अंदाजा है

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

Ayushman Bharat Yojana

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का उद्देश्य 

21 दिन के लोक डाउन के चलते गरीबों को सबसे बड़ी परेशानी का सामना राशन के लिए करना पड़ रहा है और आपको पता होना चाहिए कि गरीब लोग जो रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं उनके लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय यही है कि राशन कहां से आएगा इसी बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने गरीबों को राशन मुहैया कराने के लिए इस योजना को शुरू किया इसका सबसे खास उद्देश्य यही है। और वित्त मंत्री ने अपनी स्पीच में कहा है कि हम किसी को भूख से मरने नहीं देंगे। और इस योजना में राशन के साथ साथ गरीबों की आर्थिक सहायता भी की जाएगी। इस वक्त का गरीबों को दो वक्त की रोटी कैसे जुटाई जाए इसीलिए इस योजना को शुरू किया गया है

गरीब कल्याण योजना की कुछ खास बातें

  • इस योजना के अंतर्गत गरीबों को अनाज के साथ-साथ आर्थिक सहायता भी दी जाएगी।
  • इस योजना को 3 महीने तक चालू रखा जाएगा
  • जैसा कि आपको पता होना चाहिए इस योजना के अंतर्गत पहले ही केंद्र सरकार ने गरीबों के लिए 5 किलो अनाज देती चली आई है।
  • और अब इस मुश्किल दौर में 80 करोड़ परिवारों के लिए इस योजना को लागू किया गया है जिसमें अन्न और आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • इस 5 किलो अनाज के अलावा गरीब परिवारों को 1 किलो दाल भी प्रतिमाह मुफ्त दी जाएगी।
  • और इसके साथ ही आर्थिक सहायता गरीब परिवारों के डायरेक्ट अकाउंट में पहुंचेगी।

Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana

कुछ अन्य योजनाओं के अंतर्गत भी लाभ पहुंचाया जाएगा

  • जो लोग सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े हुए हैं और जो अपनी जान की परवाह करे बगैर जो की चिकित्सा में जुटे हुए हैं उनके लिए 50 लाख के बीमे का प्रावधान किया गया है।
  • शारीरिक रूप से विकलांग विधवा और बुजुर्गों के लिए 3 महीने तक ₹1000 मिलेंगे।
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को 3 महीने तक एक एक सिलेंडर मुफ्त दिए जाने का प्रावधान किया गया है इस योजना से करीब 8 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा।
  • जिन महिलाओं के जनधन खाते हैं उन्हें 3 महीने तक ₹500 की धनराशि देने की घोषणा की गई है इससे करीब 20 करोड़ महिलाओं को लाभ पहुंचाने का प्रावधान है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में रजिस्ट्रेशन

इस योजना के अंतर्गत कोई पंजीकरण की सुविधा नहीं है क्योंकि यह बहुत लंबी प्रक्रिया होती है जिसमें वक्त बहुत समय लगता है इसलिए केंद्र सरकार ने यह प्रावधान रखा है कि गरीब लोग प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकते हैं और जो गरीब लोग इसका फायदा उठाना चाहते हैं। राशन कार्ड के जरिए सरकारी राशन की दुकान पर जाकर अनाज प्राप्त कर सकते हैं ₹2 किलो की दर से गेहूं और ₹3 किलो के हिसाब से चावल खरीद सकते हैं क्योंकि इन 4 दिनों में ही गरीबों की हालत खराब हो गई है और वह राशन की समस्या से जूझने लगे हैं।

Leave a Comment